Hindi Hamesha

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Tooth Pain Home Remedy in Hindi: Simple ways

Share:
We tell you tooth pain home remedy in Hindi in simple ways. How to make gums healthy naturally? You can do it at home. Tooth pain will disappear by home remedies. I am going to tell healthy tips in Hindi.

tooth pain home remedy in hindi


Tooth Pain Home Remedy in Hindi


दांत का दर्द बहुत कष्टकारी होता है। प्रत्येक १० में से ६ लोगों के दांत बुरी तरह प्रभावित होते हैं। उनमे तीन के दाँत बिलकुल खराब होते हैं।  घर पर इस दर्द को ठीक कर सकते हैं। भारतीय प्राकृतिक चिकित्सा में अनेक घरेलु नुस्खे हैं, जिनके द्वारा आप दाँत के दर्द से आराम प् सकते हैं।

How to Get Rid of tooth pain?



  • एक चुटकी सेंधा नमक और एक चुटकी फिटकरी लें।  इसमें एक चुटकी हल्दी मिला दें। इस चूर्ण का दांतों पर मंजन करें। लेकिन पहले दांतों पर दो बूँद सरसों तेल लगा लें। आपको दर्द में तुरंत राहत मिलेगी। 



  • तीन लौंग फूल वाली, सरसों का तेल, एक चुटकी फिटकरी का चूर्ण बारीक चूर्ण बना लें। इस चूर्ण का प्रयोग करने से पहले मुंह को भीतर से धोएं। फिर दांत के ऊपर एक चुटकी चूर्ण रख दें। जिस दाँत में दर्द हो रहा है, उसके नीचे दबा लें। उस जगह से एक प्रकार का रस निकलेगा। आप इस लार को बाहर निकलने दें। लेकिन उस चूर्ण को दाँत के नीचे दबा रहने दें। थोड़ी देर बाद हलके गरम पानी से मुंह धो लें। दस मिनट में दर्द ठीक हो जाएगा। बहुत बढ़िया परिणाम के लिए इस क्रिया को लगातार करें। 



  • सरसों का तेल लें। इसमें फिटकरी और हल्दी मिला लें। इस पास्ट को दांतों पर मलें। आप ऊँगली या नरम टूथ ब्रश से डेंटन में लगाएं। इस क्रिया को दिन में दो बार करें। दांतो का cavity  ख़त्म हो जाएगा। 



  • जो दाँत  दर्द क्र रहा है, उसमे दालचीनी का तेल लगाएं। इस तेल को रुई की मदद से लगाएं। ऐसा करने से तुरंत लाभ मिलता है। 



  • लौंग का तेल दांतों में दर्द की प्रसिद्ध दवा है। इस तेल को फिटकरी और पहाड़ी नमक के साथ दांतों के लिए प्रयोग करें और फायदा लें। इस उपाय को कुछ दिन लगातार उपयोग करें और आपके दाँत चमक जायेंगे। cavity ख़त्म हो जाएगी और gums मजबूत हो जायेंगे। 



  • नमक और फिटकरी गरम पानी में डालें। इस पानी से कुल्ला करें तो मसूढ़ों को मजबूती मिलती है और मसूढ़ों से खून निकलना बंद हो जाता है। 



  • भुनी हुई अजवाइन चबाने से दांत सुरक्षित हो जाते हैं और दर्द नहीं होता। 



  • अपामार्ग ( चिरचिटा ) के पौधे को जड़ सहित उखाड़ लाएं। इसे धोकर आग में इसकी राख बना लें। अब, इस राख में त्रिफला चूर्ण और फिटकरी मिला लें। त्रिफला चूर्ण की मात्रा, अपामार्ग की राख से तीन गुना अधिक होनी चाहिए। फिटकरी की मात्रा अपामार्ग की राख के बराबर होनी चाहिए। इस मंजन का प्रयोग करें। आप चाहें तो इसमें नमक मिला सकते हैं। 


 Note

  1. इस मंजन का प्रयोग एक महीने तक करें।  

  1. इस मंजन के प्रयोग से पूरा जीवन दाँतों में परेशानी नहीं होगी। 
  2. जिन लोगों के दाँतों में cavity है और दांत के बीच में खड़े हो गए हैं, उनके लिए यह दवा रामबाण की तरह काम करती है।
  3. इसका परिणाम तीन दिन में दिख जाएगा। 









 







    













गडवू  

No comments