Hindi Hamesha

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Best home remedies for dry cough in natural way

Share:
Here is health information about dry cough, causes, symptoms and home remedies. Learn the definition of cough in a simple way. Prevention works in a dry cough.



Home Remedies For Dry Cough in Natural way


Cough Definition - खांसी एक आम बीमारी है जो सारी दुनिया में हर घर में किसी ना किसी को लगी रहती है। कभी-कभी खांसी का होना साधारण बात होती है क्योंकि शरीर हानिकारक और जहरीले तत्वों को बाहर करता है।
सांस की नली के ऊपर वाले भाग में जब संक्रमण होता है, यह गले के आस पास के भागों को प्रभावित करती है. शरीर उस संक्रमण और बलगम को बाहर करने के लिए जोर लगाता है, उसे खांसी कहते हैं। खांसी के लिए घरेलु उपाय आसानी से बनाकर उनसे फायदा लिया जा सकता है। सुखी खांसी (dry cough ) का घरेलु उपचार करने के लिए इनमें से एक या एक से अधिक टिप्स का उपयोग करना चाहिए।


  • Definition of Cough
  • Home Remedy for Cough
  • Cough Symptom
  • Home Remedy for Cough and Cold
  • Dry Cough Causes
  • Cough at Night Baby
  • Prevention of Cough
    • Home Remedy for Cough in Baby
    • Conclusion

    Cough Symptom                                           


    • गले में दर्द होना
    • बार बार गला साफ़ करने जाना
    • आवाज में बदलाव
    • गले का बैठना
    • गले में ऊपर से निचे की और बलगम का जाना
    • ज्यादा खांसी होने पर सांस का फूल जाना
    • अधिक स्थिति में खांसी के साथ खून का आना
    • ठण्ड के साथ सिर में दर्द होना


    Dry Cough Causes


    • सबसे बड़ा कारण है Infection रोग प्रतिरोधक शक्ति का कमजोर हो जाना
    • सांस की नाली में सूजन (Bronchitis ) होने खांसी हो जाती है. इस प्रकार की खांसी में रंगीन कफ निकलता है। 
    • खाने की गलत आदतों के कारण
    • एक साथ अलग अलग तासीर की चीजें खाना 
    • तली हुई चीजों का अधिक सेवन करना 
    • दमे की बीमारी के कारण
    • पेट में बनने वाले तेज़ाब के कारण - कुछ लोगों को पेट में तेज़ाब बनता है और गले की तरफ जाकर गले में खुजली अनुभव होती है। ये भी खांसी का एक कारण हो सकता है।
    • मौसम में बदलाव
    • किसी दवाई का side effect
    • धूल मिटटी के संपर्क में आना
    • अचानक कुछ गले में फंस जाना


    Cough at Night Remedies


    कई लोगों को रात के समय खांसी की तकलीफ बढ़ जाती है। वे लोग खांसी के कारण सो भी नहीं पाते। इसका कारण है, रात को दूध से बनी हुई वस्तु खाना या पीना। चाय भी दूध से ही बनती है। अगर किसी को खांसी पहले से है, तो उसके फेफड़ों में लगा हुआ कफ, लेटने की पोजीसन के कारण, गले की तरफ जाता है। उसके बाद मरीज के गले में खरास होने लगती है और वह खाँसना शुरू कर देता है। रात को सोते समय चाय, दूध से बनी चीजें नहीं लेनी चाहिए। तली हुई चिकनी चीजें नहीं खानी चाहिए। ये रात में खांसी का कारण बनती हैं।

    Home Remedy for Cough: Dry Cough Home Remedy



    • 50 ग्राम उन्नाव (हर्ब) और 50 ग्राम सफ़्फ़िस्तान (हर्ब) लाकर बारीक चूर्ण बना लें। एक चम्मच इस चूर्ण को लेकर दो कप पानी में उबालें। जब आधा काढ़ा रह जाये, उतारकर गरम-गरम पियें। इस के प्रभाव से पुरानी खांसी, काली खांसी, दमा, फेंफड़ों के रोगों आदि में बहुत फायदा मिलता है।
    • 25 ग्राम गुड़, 25 ग्राम घी 2 ग्राम हल्दी, 1 ग्राम दालचीनी , इन चारों को एक बर्तन में मिला लें। आपके लिए बहुत बढ़िया cough mixture तैयार हो गया है। इसे हल्का गरम करके, एक चम्मच सुबह और एक चम्मच रात को सोते समय खाएं। अगर आप चाहें तो इसमें एक चुटकी काली मिर्च पाउडर भी मिला सकते हैं। बहुत प्रभावशाली quick relief giving home made दवा है। पांच दिन में पुरानी खांसी ख़त्म हो जाएगी। है। Note - क्योँकि ये दवा थोड़ी तीखी होती है, इसलिए छोटे बच्चों को नही देनी चाहिए। उनके लिए नीचे लिखे हुए दूसरे नुस्खे अपनाने चाहिए .
    • किसी बर्तन में आधा चम्मच हल्दी का पाउडर रख लो। उसमे आधा चम्मच घी मिला लो। इसमें 2 चुटकी नमक और दो चम्मच शहद मिला लो। इस cough mixture का तरीका ऊपर वाले जैसा है। Note - इस घरेलु दवा को खाने के बाद एक घंटे तक पानी नहीं पीना चाहिए। पानी पीने से इसका असर ख़तम हो जाता है। यह मिश्रण शरीर में एक विशेष प्रकार की अग्नि उत्पन्न करता है। इसकी अग्नि छाती में से जमे हुए बलगम को ख़त्म कर देती है। पानी पीने से वह अग्नि मंद हो जाती है और खांसी पूरी तरह ठीक नही होता।
    • एक-दो कप पानी में आधा चम्मच हल्दी डालकर उबालें। इसमें एक छोटा सा टुकड़ा दालचीनी का डाल दें। दो से तीन चुटकी काली मिर्च पाउडर दाल दें। फिर छानकर इसे पांच मिनट तक ऐसे ही रहने दें। इसे गुनगुना रह जाने पर, दो-तीन चम्मच शहद मिला दें। इस चाय को पीने से चार दिन में सुखी खांसी ठीक हो जाएगी। एक बात का ध्यान रखें। इस दवा को गुनगुना करके शहद डालें।
    • एक कप पानी में 5 लौंग उबाल लो। थोड़ी देर में पानी का रंग बदलने लग जाएगा। थोड़ी देर में छानकर हल्का गुनगुना रहने पर इस लौंग के पानी को पीना शुरू करें। इसे ऐसे पीना है मानो आप चाय पी रहे हों। एक सप्ताह तक दिन में दो बार ये लौंग की चाय पीने से खांसी ठीक हो जाती है।
    • एक कप पानी में 5 ग्राम अदरक उबाल लें। इसे गुनगुना कर लें। फिर शहद मिलाकर पीएं।
    • जब भी चाय लेनी हो तो उसमे तुलसी के पते, अदरक और काली मिर्च जरूर डालें।
    • किसी बताशे में काली मिर्च के पाउडर की तीन चुटकी मिलाकर चूसने से खांसी में तुरंत फायदा मिलता है।
    • 15 ग्राम शहद में 5 ग्राम तुलसी के पतों का रस और 5 ग्राम अदरक का रस मिलाकर लेने से आराम होता है।
    • 30 ग्राम गुड़ लें और 15 ग्राम सरसों का तेल लें। इनको मिलाकर किसी एक बर्तन में रख लेना चाहिए। सुखी खांसी होने पर एक चम्मच इस mixture को चाट लें। सुखी खांसी में आराम आएगा।
    • खजूर के नियमित सेवन से सुखी खांसी ठीक हो जाती है।
    • गाजर और पालक का जूस मिलाकर पीने से सुखी खांसी में लाभ होता है।

    Natural Foods to Stop Cough


    jeggery

    गुड़ में बहूत फास्फोरस होता है। जब भी खांसी होती है तो शरीर में फास्फोरस की कमी हो जाती है। फास्फोरस की कमी को गुड़ पूरी करता है। छोटे बच्चों को भी कम मात्रा में गुड़ दिया जा सकता है। रोज थोड़ा गुड़ खाना चाहिए।

    Benefits of  Cloves

    लौंग एक प्राकृतिक रूप में एंटीबीओटिक है। यह हर प्रकार के संक्रमण को ठीक करके खून को सुद्ध बनाती है, शरीर की सफाई करती है और हानिकारक पदार्थों को शरीर से बाहर करती है। लौंग मूँह में लेने से अंदर की सफाई हो जाती है। इस तरह लौंग खांसी की एक अच्छी दवा के रूप में काम करती है।
    बहुत Toothpaste बनाने वाली कंपनियां, अपने उत्पादों में लौंग का प्रयोग करती हैं। लौंग में दुर्गन्ध दूर करने की और ताजगी देने की अद्वितीय ताकत होती है।विधि- एक कप पानी में 3-4 लौंग डालकर उबाल लो. थोड़ी देर में पानी का रंग बदलने लग जाएगा. थोड़ी देर में छानकर हल्का गुनगुना रहने पर इस लौंग के पानी को पीना शुरू करें. इसे ऐसे पीना है जैसे आप चाय पी रहे हों. एक सप्ताह तक दो बार ये लौंग की चाय पीने से खांसी ठीक हो जाती है. बच्चों को इसकी आधी मात्रा देनी चाहिए। 

    Turmeric For Cough

    आयुर्वेद के अनुसार हल्दी हर तरह के infection को तुरंत रोक देती है और समाप्त कर देती है। हल्दी से शरीर की अपने आप स्वस्थ होने की शक्ति बढ़ जाती है। खांसी के लिए हल्दी का उपयोग हजारों सालों से होता आ रहा है। हल्दी कफ को ख़त्म करती है। कफ से बनने वाली बीमारियां हल्दी के प्रभाव से ठीक होने लगती हैं। हल्दी खून को साफ़ करती है। 

    Cough at Night Baby

    बच्चों में खांसी का होना बहुत आम बात है। इनको खांसी ठण्ड के कारण होती है। आगे आपके Babies के लिए बहुत आसान Healthy tips हैं। इनसे आप बच्चों की खांसी को ठीक कर सकते हैं।

    • एक कप पानी को दो चुटकी काली मिर्च का पाउडर, दो लौंग, एक टुकड़ा दालचीनी, दो-तीन चुटकी हल्दी डालकर उबालें। जब इसका चौथा हिस्सा रह जाये, इसे ठंडा कर लें। फिर इसे छान लें और इसमें इसमें 50 ग्राम शुद्ध शहद मिला दें। इसे चख कर देख लें। यदि तीखापन महसूस हो तो इसमें थोड़ा शहद और मिला लें। यह आपके बच्चे के लिए Cough Mixture तैयार है। हर तीन घंटे के बाद बच्चे को एक ग्राम चटाएं। इसका कोई side effect नही है। बच्चे की खांसी ठीक हो जाती है। खांसी के साथ ये दवा बच्चे के पेट को स्वस्थ रखती है। ठण्ड से सम्बंधित अन्य रोगों में लाभदायक है। baby को संक्रमण से बचाती है। बच्चे की पाचन शक्ति ठीक रहती है और kids health इम्प्रूव होता है।  
    • बच्चे को Liquid jaggery चटाना चाहिए, ये बच्चे की खांसी में बहुत फायदेमंद रहता है।

    Prevention

    • खांसी होने पर ठंडी वस्तुएं जैसे ice cream आदि नहीं खानी चाहिए। ये चीजें गले में रक्त संचरण कम कर देतीं हैं, इस कारण गला रुक जाता है। इस कारण अधिक परेशानी का सामना करना पड़ता है।
    • तली हुई तथा चिकनी चीजें नहीं खानी चाहिए और इनके साथ पानी नहीं पीना चाहिए। चिकनी चीजों के साथ पानी पीने से खांसी बहुत बढ़ जाती है।
    • दिन में दो बार गरम पानी में, हल्का नमक डालकर गले की सफाई करें।
    • Vitamin C वाले पदार्थ खा सकते हैं।
    • गरम सूप पी सकते है।
    •  शहद को कभी गरम नहीं करना चाहिए। दूध में शहद मिलाते समय दूध का तापमान 45 डिग्री से कम होना चाहिए। शहद को दूध या पानी में डालकर उबालना नहीं चाहिए, बल्कि गुनगुना होने के बाद मिलाना चाहिए।This prevention should be obeyed.
    • ठन्डे मौसम में सिर और गले को ढककर रखना चाहिए






                                                                   Hindi Hamesha

    No comments